ShamsnWags

Pitch it up!

Harfanmaula

1 min read

हरफनमौला- इस शब्द से आपका परिचय क्रिकेट हिंदी कमेंटरी के दौरान अक्सर हुआ होगा होगा !खेल में बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी और क्षेत्ररक्षण में उम्दा प्रदर्शं करने वाले खिलाडी को हरफनमौला कहा जाता है जिसे क्रिकेट की सरल भाषा में ‘आल राउंडर’ कहतें हैं! एक संतुलित टीम का निर्माण बहुत हद्द तक इस बात पर निर्भर करता है की दल में हरफनमौला की उपयोगिता और संख्या क्या है और वे किस हद तक परिणामकारक हैं ! भारत का इंग्लैंड दौरा शुरू होने को है, तो आइये नज़र डालें भारतीय टीम श्रेष्ठ हरफनमौला खिलाडीयों पर और देखें मौजूदा दौर में इनका क्यों अधिक महत्व है ! यहाँ चुनिंदा खिलाडियों के बारे में कहा जा रहा है जो की लेखक के अपने ज्ञान और अनुभव के अनुसार है! पाठको से अनुरोध है की वह अपनी प्रतिक्रियां हमें दें ताकि इस विषय पे एक संपूर्ण श्रंखला हम लिख सकें!

Lala Amarnath
Lala Amarnath
भारत के क्रिकेट इतिहास में लाला अमरनाथ का नाम लीजेंड के रूप में लिया जाता रहेगा। वह भारत के पहले क्रिकेटर है जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में शतक बनाया! १९५२/३ में वह टीम के कप्तान रहे तथा गेंद और बल्ले से उनका प्रदर्शन हमेशा मील का पत्थर साबित हुआ! २४ टेस्ट में उनका बल्लेबाज़ी औसत २४ तथा गेंदबाज़ी औसत ३२ के क़रीब है!

Vinoo Mankad
Vinoo Mankad
वीनू मांकड़ ऐसे हरफनमौला खिलाडी रहे है जिन्होंने पारी के आगाज़ से लेकर ११ नंबर तक हर स्थान पर बल्लेबाज़ी की! भारत की और से ४४ टेस्ट में उन्होंने ३१. ४७ की औसत से २१०९ रन बनाये जिनमें ५ शतक शामिल हैं तथा गेंदबाज़ी में 32. की औसत से १६२ विकेट्स लिए जिसमें ८ मर्तबा एक पारी में ५ विकेट्स लिए! १९५२ के लॉर्ड्स टेस्ट में उनका प्रदर्शन अविस्मरणीय रहा जहाँ उन्होंने पहली पारी में ७२ तथा दूसरी पारी में १८४ रन बनाये वहीँ पहली पारी में ७३ ओवर डाल कर में ५ विकेट लिए!
Salim Durani
Salim Durani

सलीम अज़ीज़ दुर्रानी एक बेहद प्रतिभावान खिलाडी रहे. उनके हरनौला खेल ने कई अवसर पर मैच की काया पलट की. मिडिल ओरेर में उनकी उपयोगी पारी हो या विकेट टेकिंग क्षमता , दुर्रानी ने हर मैच में अपनी छाप छोड़ी ! उनका २९ टेस्ट में औसत बल्लेबाज़ी २५. और गेंदबाज़ी ३५. रहा. दर्शकों की मांग पर चक्के जड़ने का उन का हुनर बड़ा ही मशहूर था.

Kapil Dev
Kapil Dev
इस कड़ी में अगर सबसे प्रभावी और सबसे ऊपर किसी का नाम लिखा जायेगा तो वह निसंदेह कपिल देव होंगे! अगर हम शब्द हरफनमौला के लिए किसी खिलाडी का रूप ढूंढें तो वह कपिल देव से शुरु होकर उनही पे ख़तम हो जायेगा! भारत के १९८३ वर्ल्ड कप के महानायक और अब तक के सर्वश्रेष्ठ आल राउंडर रहे कपिल देव ने टीम की कप्तानी से लेकर एक खिलाडी के रूप में वह कीर्तिमान स्थापित किया जैन जिन्हे भारतीय क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिंम अक्षरों में लिखा जायेगा! टेस्ट हो एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय , कपिल ने हर मैच एक वीर योद्धा के जैसे पूर्ण समर्पण से खेला! उनके खेल में जीत की ललक और जुझारूपनन हमेशा से दिखा!

१९८३ में लॉर्ड्स की बालकनी में वर्ल्ड सीप थामे हुए कपिल देव की छवि हर क्रिकेट प्रेमी के दिल ओ दिमाग पर हमेशा के लिए अंकित हो गयी है! इनके औसत और अन्य पहलु पे शायद एक सीरीज लिखना भी कम् है, पर हम फिर कभी कोशिश करेंगे!

Mohinder Amarnath
Mohinder Amarnath
लीजेंड क्रिकेटर लाला अमरनाथ की विरासत को मोहिंदर अमरनाथ ने आगे बढ़ाया और भारत ककी १९८३ वर्ल्ड कप जीत में उनका योगदान हमेशा स्मरणीय रहेगा! याद कीजिये वह पल जब अमरनाथ ने वेस्ट इंडीज का आखरी विकेट लिया और भारत विश्वविजेता बना!

मोहिंदर अमरनाथ एक ऐसे खिलाडी रहे जिससे हर कप्तान अपनी प्लेइंग ११ में रखना चाहेगा. बल्लेबाज़ी में बहुदा संकट मोचक बन के उभरे तथा गेंदबाज़ी में छोटे छोटे प्रभावशाली स्पेल्स से उन्होंने हर जीत में अहम् भूमिका निभाई! वह हमेशा से ही एक साहसी खिलाडी रहे. १९७६ के वेस्ट इंडीज टूर की ४०६ रनों प्रसिद्ध इनिंग्स दूसरी पारी में खेली गयी उनकी ८५ रन की पारी ऐतिहासिक है! मोहिंदर अमरनाथ का टेस्ट में ४२. बल्लेबाज़ी औसत रहा जबकि गेंदबाज़ी में ५५. ६८. उन्हें कप्तान अक्सर साझेदारियां तोड़ने के काम के लिए आमंत्रित करते!

Ravi Shashtri
Ravi Shashtri
भारतीय टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री अपने दौर के शानदार प्लेयर रहे. हालांकि बहुत से लोग उनकी धीमी गति से की गयी बल्लेबाज़ी से नाखुश रहे मगर रवि अपने आल राउंड खेल के दम पे टीम के अभिन्न अंग बने रहे. दाहिने हाट बल्लेबाज़ी और बाएं हॉट के स्पिन से रवि ने कई यादगार प्रदर्शन किये. जरूरत पड़ने पर रवि काफी तेज़ी से भी रन बनाने की क्षमता रखते थे. फर्स्ट क्लॉस में ६ गेंद में ६ छक्के मारनेवाले वह पहले भारतीय क्रिकेटर हैं!. १९८५ की वर्ल्ड सीरीज में वे प्लेयर ऑफ़ थी टूर्नामेंट रहे. इंग्लिश कमेंटरी में रवि शास्त्री एक मशहूर नाम रहे जिन्होंने अपनी अलग शैली से सुनाने वालो के लिए खेल को और भी रोचक बनाया. इन के कई क्लिशे अब तक मशहूर हैं. उनका टेस्ट मैच वा करीयर शानदार रहा जहा गेंदबाज़ी में ४०. की १५१ब्विकेट लिए वही ३५. की औसत से बल्लेबाज़ी जिसमें ११ शतक शामिल हैं. ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध सिडनी में बनाये २०६ रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा. लेकिन यह उन की आखिरी टेस्ट सीरीज भी थी!
Manoj Prabhakar
Manoj Prabhakar
८० और ९० के दशक में मनोज प्रभाकर ने भारतीय टीम में अपने आक्रामक खेल और हरफनमौला प्रदर्शनं से बहुत संतुलन बनाये रखा. उन्होंने पारी के आगाज़ से ७ नंबर तक बल्लेबाज़ी की और अपनी माध्यम गति की स्विंग से गेंदबाज़ी में विविधता लायी. प्रभाकर हमेशा से सुर्ख़ियों में रहने वाले खिलाडियों में रहे! टेस्ट में उनका औसत : गेंदबाज़ी ३७३० और बल्लेबाज़ी ३२.६५ ( १ शतक)!

९०’स का दौर – अजय जडेजा और रोबिन सिंह:
९० के दशक में काम या यूँ कह लीजिए कोई भी ऐसा हरफनमौला नहीं हुआ जिसका प्रभाव हम सब पर हमेशा रहे. कुछ अनूठे रिकार्ड्स के अलावा टीम में हमेशा आल राउंडर की कमी खलती रही.अजय जडेजा और रोबिन सिंह ने ९० के दशक में कई आकर्षक एक दिवसीय पारियां खेली. उनकी रनिंग बिटवीन विकेट्स और आपसी तालमेल गज़ब का था. कई मौको में दोनों ने टीम को संकट से निकाल जीत तक पहुंचाया। क्षेत्ररक्षण में जडेजा और रोबिन सिंह लाजवाब रहे या यूँ कह सकते भारतीय टीम जो आज एक बेहतरीन फील्डिंग यूनिट भी कही जाती है इसकी नीव उस वक़्त इन खिलाडियों द्वारा राखी गयी. टेस्ट मैचेस में दोनों का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा जहाँ अजय जडेजा ने १५ टेस्ट खेले वहीँ रोबिन सिंह ने अपने करियर में केवल १ टेस्ट मैच खेला.

Irfan Pathan
Irfan Pathan
१९९६ वर्ल्ड कप से मनोज प्रभाकर की विदाई के में हरफनमौला खिलाडी का अकाल इरफ़ान पठान के प्रदर्शन से ख़तम हुआ. बाएं हात के फ़ास्ट मध्यम स्विंग से उन्होंने सबका ध्यान आकर्षित किया और बल्लेबाज़ी में भी वह आक्रामक दिखें!२००६ के पाकिस्तान दौरे में उनको हैट-ट्रिक टेस्ट क्रिकेट इतिहास के सबसे अच्छे ओपनिंग स्पेल्स में गिनी जाती रहेगी. टेस्ट में पठान का गेंदबाज़ी औसत 32. २६ रहा तथा बल्लेबाज़ी ३१. ५७!
Yuvraj Singh
Yuvraj Singh
२०११ वर्ल्ड कप में भारत की जीत के सूत्रधार रहे युवराज सिंह किसी परीचाय के मोहताज नहीं. उन्होंने गेंद और बल्ले दोनों से जो प्रदर्शन किया उसका परिणाम भारत ने २ अप्रैल २०११ का वर्ल्ड कप २८ साल बाद जीत को चखा. उनकी गेंदबाज़ी में हमेशा विविधता रही जो की रन रोकने के साथ हमेशा ब्रेक थ्रू की तालाश में होती थी. फील्ड पर युवराज एक चीता की क्षेत्ररक्षण कटे और उनकी बल्लेबाज़ी के तोह क्या कहने. किसी प्रेमी से पूछिए युवराज की बल्लेबाज़ी आत्ममुग्धा करती हुई दिखती है. इनके बाद यूँ तो कई खिलाडियों ने टीम में पदार्पण किया प्रार्शन विशुद्ध हरफनमौला की श्रेणी में नहीं रखा जा सकता!

आज का दौर:

मौजूदा दौर में जिन्हे हम आलराउंडर की संज्ञा दे सकतें वह केवल हार्दिक पंड्या और रविंद्र जडेजा तक सीमित है!

All Rounder- Ravindra Jadeja
Ravindra Jadeja celebrating his knock
नाम से मशहूर रविंद्र जडेजा भारतीय स्पिन जोड़ी के महत्त्वपूर्ण स्तम्भ है! उन्होंने समय समय पे अपनी उपयोगिता सिद्ध की क! गेंदबाज़ी में जडेजा हमेसना एक विकेट टेकर के रूप में देखे जाते जैन हालाँकि बल्ले से उनका प्रदर्शन बेहद औसत रहा है परन्तु अपने चुस्त क्षेत्ररक्षण से वे टीम को एक संतुलन अवश्य प्रदान करते है! जडेजा के घरेलु रिकॉर्ड इस बात का की वह एक लम्बी रेस के खिलाडी हैं. वे भारत के अब तक एकमात्र खिलाडी हैं जिनके नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में तीन तिहरे शतक शामिल हैं! टेस्ट में उनका गेंदबाज़ी का औसत २३. है जिसमें मैच में ९ दफा ५ विकेट और एक दफा १० विकेट ( २०१६ इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई टेस्ट) तथा बल्लेबाज़ी औसत २९.१७ है. उम्मीद करते है आगे इंग्लैंड दौरे पे उनके प्रदर्शन से भारत की जीत की चमक बढे!
Hardik Pandya
Hardik Pandya
मौजूदा समय में हार्दिक पंड्या एकमात्र खिलाडी हैं सर्वश्रेस्थ हरंमौला कह सकते हैं. हालाले साउथ अफ़्रोका दौरे पे उन्होंने बल्ले से ऐसी पारी खेली की उनकी तुलना महान कपिल देव तक से कर दी गयी. हालांकि उन्हें अभी काफी लम्बा सफर तये करना मुश्किल दौरे में उनका योगदान बेहद महत्त्वपूर्ण है फिर वह चाहे खेले किसी भी प्रारूप में क्यों न हो. पंड्या का टेस्ट में गेंदबाज़ि औसत ३६.७१ तथा बल्लेबाज़ी औसत ३६.८० है जिसमें एक शतक/३ अर्ध शतक शामिल हैं! उन्होंने अपने पहली ही टेस्ट में एक आतिशबाज़ शतक लगाया है!

भारत का इंग्लैंड दौरे शुरू हो चूका है ! जुड़े रहिये www.shamsnwags.com

More Stories

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.